Best 199+ Mood Off Shayari in Hindi 2022 | मूड ऑफ शायरी

नमस्कार दोस्तों, आज के इस लाजवाब व जबरदस्त आर्टिकल में आप जानने वाले हो Mood Off Shayari in Hindi. यह Mood Off Shayari आप अपनी Wife, Girlfriend, Crush, boyfriend, Husband, Friends आदि को भेज सकते  है।

इस आर्टिकल में हमने बहुत ही Unique Mood Off Shayari in Hindi डाला है जो आपको बहुत पसंद आएगी।

तो चलिए शुरू करते है Best Mood Off Shayari in Hindi.


Mood Off Shayari in Hindi 2022

Mood Off Shayari in Hindi
Mood Off Shayari in Hindi

मुश्किल कोई आ जाए तो डरने  से क्या होगा ..
जनाब कोई तरकीब निकालो ,
यूं डर डर के मरने से क्या होगा ..

जीने का मतलब पहली मुहब्बत  में पा लिया ,
जिसका भी गम था उसे अपना लिया …
आप रो कर भी गम को हलका न कर सके ,
मैंने हसी  के आड़ में हर गम को छुपा लिया … ।।

कुछ कदम हम चले ,कुछ कदम तुम चले …
फर्क सिर्फ इतना रहा ,
हम चले तो फासला घटता गया ,
और तुम चले तो फासला बढ़ता गया … ।


Mood Off Shayari in Hindi

Mood Off Shayari in Hindi
Mood Off Shayari in Hindi

ज़ख्म पुराने हुए  कोई तो नया ज़ख्म दे जाओ  ,
चलो आओ फिर से फिर से वही  इश्क़ ले आओ …

वो रो रो कर कहती रही मुझे नफरत  है तुमसे,
मगर एक सवाल आज भी परेशान  किये हुए है ??
की अगर नफरत  ही थी तो वो इतना रोई  क्यों … ।

ये बेवफाओं की फितरत भी कमाल होती हैं
दिलों से पत्थर और चहरों से गुलाब होती हैं


Mood Off Shayari in Hindi

Mood Off Shayari in Hindi
Mood Off Shayari in Hindi

छोड दिया हमनें रहना
बेवफाओं के शहर मे
क्योंकि दर्द होता हैं इतना
जितना होता हैं किसी जहर मे

बहुत चाहा उसको जिसे हम पा ना सके,
ख्वाबों मे भी किसी और को पा ना सके
उसको देख के आंसू तो पोंछ लिए हमनें,
मगर किसी और को देख, मुस्कुरा ना सके.

छोड दिया जख्मों मे मरहम लगाना
तेरे मुस्कुराने से जख्म भरे नजर आते हैं


Mood Off Shayari in Hindi

Mood Off Shayari in Hindi
Mood Off Shayari in Hindi

आये थे वो कुछ पल के लिए हमारे दिल से खेलने
और हम उन्हे जीवन भर का साथी समझ बैठे

Aaye The Vo Kuch Pal Ke Liye Humare Dil Se Khalne
Or Hum Unhe Jivan Bhar Ka Sathi Samajh Baithe.

उस बेवफा की यादें भी दिल मे इस कद्र बैठ गई
कि ना जीने देती हैं ना मरने देती हैं


Mood Off Shayari in Hindi

Mood Off Shayari in Hindi 2022
Mood Off Shayari in Hindi 2022

Us Bewafa Ki Yaadein Bhi Dil Me Is Kadar Baith Gyi Hai
Ki Naa Jeene Deti Hai Naa Marne Deti Hai.

राज उनके दिलो के भी बहुत गहरे होते हैं
जिनके चहरे पर झूठी मुस्कान के पहरे होते हैं

Raaz Unke Dilo Ke Bhi Bahut Gahre Hote Hai
Jinke Chahre Par Jhuti Mushkan Ke Pahre Hote Hai.


Mood Off Shayari in Hindi

Mood Off Shayari in Hindi 2022
Mood Off Shayari in Hindi 2022

वक्त गुजर जाने दो वो तुमको भूला देगें
उनकी झूठी मोहब्बत के वादे तुमको रूला देगें

Waqt Gizar Jane Do Va Tumko Bhula Denge
Unki Jhuti Mohobbat Ke Wade Tumko Rula Denge.

अपनी तकदीर को कुछ इस तरह अपनाया हैं मैने
जो ना था किस्मत मे उसे भी बेपनाह चाहा हैं मैने


Mood Off Shayari in Hindi

Mood Off Shayari 2 Line
Mood Off Shayari 2 Line

Apni Taqdeer Ko Kuch Is Tarah Apnaya Hai Maine
Jo Naa Tha Kismat Me Usi Bhi Bepanah Chaha Hai Maine.

कभी भूल के भी मत जाना मोहब्बत के जंगल में
यहां सांप नही हमसफर डस लेते हैं

Kabhi Bhul Ke Bhi Mat Jana
Mohobhat Ke Jungle Mein
Yaha Saap Nahi Humsafar Das Lete Hai.


Mood Off Shayari in Hindi

Mood Off Shayari 2 Line
Mood Off Shayari 2 Line

अब नहीं चाहिए हमें किसी का साथ
बेरहम लोग पता नहीं कब दिल तोड़ दे

Ab Nhi Chahiye Humein Kisi Ka Sath
Beraham Log Pata Nhi Kab Dil Tod De.

शहर जालिमों का है साहब जरा संभाल कर चलना
यहां लोग सीने से लगा कर दिल निकाल लेते हैं.


Mood Off Shayari in Hindi 2022

मूड ऑफ शायरी
मूड ऑफ शायरी

Sahar Zalimo Ka Hai Sahab Zara Sambhal Kar Chalna
Yaha Log Sine Se Lagakar Dil Nikal Lete Hai.

हमसें बिछडकर वो बहुत दूर हो गए
सबकुछ पाकर भी हम अधूरे हो गए
क्या हुआ अगर हम टूटकर बिखर भी गए
उनके दिल के अरमां तो पूरे हो गए

Humase Bichhadkar Vo Bahut Door Ho Gye
Sabkuch Pakar Bhi Hum Adhure Ho Gye
Kya Hua Agar Hum Tutkar Bikhar Bhi Gye
Unke Dil Ke Arma To Pure Ho Gye.


Mood Off Shayari in Hindi

मूड ऑफ शायरी
मूड ऑफ शायरी

जो हैरान हैं मेरे सब्र पर उनसे कह दो
जो आँसू जमीन पर नहीं गिरते वो दिल चिर देते हैं

Jo Hairan Hai Mere Sabar Par Unse Kah Di
Jo Aanshu Zameen Par Nhi
Girte Vo Dil Cheer Dete Hai.

काश! तुम भी मुझे ऐसे चाहो
जैसे तकलीफ मे इंसान सुकून चाहता है.


Mood Off Shayari in Hindi

Best Mood Off Shayari in Hindi
Best Mood Off Shayari in Hindi

Khas Tum Bhi Mujhe Aise Chaho
Jeise Taqlif Me Insan Sukun Chahta Hai.

अक्सर पूछतें हैं लोग बिछडने की वजह
मैं अपनी कमी बताकर तेरी इज्ज़त बचा लेता हूँ

Aksar Puchte He Log Bichhadne Ki Vajah
Me Apni Kami Batakar Teri Izzat Bacha Leta Hu.


Mood Off Shayari in Hindi

Best Mood Off Shayari in Hindi
Best Mood Off Shayari in Hindi

जख्म कहाँ कहाँ से मिले छोड़ ना इन बातों को,
ज़िन्दगी तू यह बता सफर कितना बाकी है,

न जाने हर बार ऐसा ही क्यों होता हैं,
जो सबको खुशी देता हैं आखिर में वही रोता हैं,

अजीब सबूत मागा उसने मेरी मोहब्बत का,
भूल जाओ तो मानू कि मुझसे मुहब्बत हैं,


Mood Off Shayari in Hindi
दिल चाहता आज रो लूँ जी भर के,
ना जाने किस किस बात पर उदास हूँ,

ये ना कहो खुदा से कि मेरी मुश्किलें बड़ी हैं,
कहना है तो मुश्किलों से कहो कि मेरा खुदा बड़ा हैं,

बहुत अंदर तक तबाही मचाता हैं,
वो आँसू जो आँख से बह नहीं पाता,


Mood Off Shayari 2 Line in Hindi

वही तेरी किस्सा वही तेरी बेरुखी और वही तुम,
एक ही एहसास हम कितना बार लिखे,

रुलाना छोड़ दे ऐ ज़िन्दगी तू हमे,
हम खफा हुए तो एक दिन तुझे छोड़ देंगे,

जो ढ़ूढ रहे थे हमे भूला देने का रास्ता,
हमने खफा होकर उनका काम आसान कर दिया,


Mood Off Shayari 2 Line in Hindi

किसी ने यूँ ही पुछ लिया हमसे कि दर्द कि किमत क्या है,
हमने हंसते हुए कहाँ पता नहीं यहाँ तो अपने,
मुफ्त मे दे जाते हैं,

तय हैं बदलना हर चीज़ बदलती है इस जहां में,
किसी का दिल बदल गया किसी के दिन बदल गए,

फ़रियाद कर रही हैं तरसती हुई निगाहे,
देखे हुए किसी को जमाना गुजर गया,


Mood Off Shayari 2 Line in Hindi

लोग बदलते नहीं हैं बस उनकी ज़िन्दगी में
आपसे कोई बेहतर आ जाता हैं।

हमने तो एक ही शख्स पर चाहत खत्म कर दिया,
अब मोहब्बत किसे कहते हैं मालूम नहीं,

अगर तुम अजनबी थे तो लगे क्यों नहीं,
और अगर मेरे थे तो मुझे मिले क्यों नहीं,


Mood Off Shayari 2 Line in Hindi

रोज एक नई तकलीफ रोज एक नया गम,
न जाने कि कब ऐलान होगा कि मर गये हैं हम,

तेरी मुहब्बत को कभी खेल नहीं समझा,
वरना खेल तो इतने खेले हैं मौने कि कभी भी हारा नहीं,

वजह पूछने का मौका ही नहीं मिला,
वक्त गुजरता गया और हम अजनबी बनते गये,


Mood Off Shayari 2 Line in Hindi

शब्द भी हार जाते हैं कई बार ज्जबातो से,
कितना भी लिखो कुछ ना कुछ बाकी रह ही जाता हैं,

ये तो जमीन कि फ़ितरत हैं हर चीज़ को मिटा देती हैं,
तेरी याद में गिरने वाले आँसुओ का,
अलग समंदर होता हैं,

मोहब्बत नहीं थी तो एक बार समझाया होता,
बेचारा दिल तुम्हारी खामोशी को इश्क़ समझ बैठा,


Mood Off Shayari in Hindi
आज रास्ते में कुछ प्यार भड़े पन्ने टुकडों में मिले,
शायद फिर किसी गरीब का प्यार का तमाशा हो गया,

इतनी ठोकरें देने के लिए शुक्रिया ज़िन्दगी,
चलना तो नहीं मगर सम्भलने का हुनर तो आ गया,

इश्क़ लिखना चाहा तो कलम भी टूट गयी,
ये कहकर अगर लिखने से इश्क़ मिलता तो,
आज इश्क़ से जुदा होकर कोई टुटता नहीं,


Mood Off Shayari in Hindi
खो जाओ मुझ में तो मालूम होगा कि दर्द क्या है,
ये वो किस्सा है जो ज़ुबान से बयाँ नहीं होता,

इंसान कितना भी खुशकिस्मत क्यों न हो,
उसकी कुछ ख़्वाहिशे अधुरी रह ही जाती है,

जिसके दिल पर भी क्या खूब गूजरी होगी,
जिसने इस दर्द का नाम मुहब्बत रखा होगा,


Mood Off Shayari in Hindi
माना तुम लफ्ह़जों के बादशाह हो,
पर हम भी खामोशियो पर राज करते हैं,

सिखा दिया है दुनिया ने ये अपनो पर भी शक करना,
वरना मेरी फ़ितरत में तो गौरो पर भी भरोसा करना था,

हर बार इल्जाम हम पर ही लगाना ठीक नहीं,
वफ़ा खुद से नहीं होती और खफा हम पर होते हो.

Mood Off Shayari in Hindi

Wo Kya Karega Leke Zamaane Ki Rahate,
Jisako Tumhaari Yaad Me Rona Pasand Hai.
मुकर जाने का कातिल ने निराला ढंग निकाला है,
हरेक से पूछता है की उसको किसने मार डाला है !!
किसी का दिल जीतने के लिए,
उसके पास दिल भी होना चाहिए

Mood Off Shayari in Hindi

जिंदा है तो बस तेरी इश्क की रहमत पर,
हम मर गये तो समझना तेरा प्यार कम पड गया.
कौन से लफ्ज़ में मैं दर्द की सदा लिखूं
किस तरह मैं अपने ही दिल को बेवफा लिखूं
किस्मत के तराज़ू में तोलो,तो फ़कीर हैं
हम और दर्द-ए-दिल में, हम सा कोई नहीं.

Mood Off Shayari in Hindi

किन लफ़्ज़ों में बंया करूँ दर्द-ए-दिल को मैं,
सुनने वाले तो बहुत हैं, समझने वाला कोई नही.
दर्द-ए-दिल को ताब आ जाए
जिसमे तुम हो काश कहीं से वो ख़्वाब आ जाए.
अभी से क्यों छलक आये तुम्हारी आँख में आंसू.
अभी तो छेड़ी ही कहा हे दर्द-ए-दिल की दास्तान हमने

Mood Off Shayari in Hindi

ना सिगरेट को छुआ कभी, ना किया कोई नशा  कभी,
ना आदत शराब  की जाने कैसे पड़ गई हमें लत जनाब की….!
आरजू क्यों करूं, कि तुम मुझे चाहोगे उम्र भर…
इतना ऐतबार ही काफी है, कि मुझे भूल नहीं पाओगे उम्र भर…!
मैं यह नहीं कहता मेरा झुका सर मिलेगा तुम्हें..
पर सुनिए, जनाब मेरी आंखों में आप का डर ना मिलेगा तुम्हें…!

Mood Off Shayari in Hindi

मुझे सिर्फ इतना बता दो इंतज़ार करू
तुम्हारा या बदल जाऊ तुम्हारी तरह…
हालात चाहे कितने भी बदल जाए
पर तुम मत बदलना कभी
शायद कोई तो कर रहा है मेरी कमी पूरी
तब ही तो मेरी याद तुम्हे अब नहीं आती

Mood Off Shayari in Hindi

जरूरी नहीं कि सारे सबक किताबों से ही सीखे
कुछ सबक जिन्दगी और रिश्ते सिखा देते हैं।
कैसे मोहब्बत करूं बहुत गरीब हूँ साहब,,
लोग बिकते हैं और मैं खरीद नहीं पाता।।
बहुत थक सा गया हुँ खुद को साबित करते करते,
मेरे तरीके गलत हो सकते है, मगर मेरी मोहब्बत नहीं…

Mood Off Shayari in Hindi

कर देना माफ़, अगर दुखाया हो दिल तुम्हारा…
क्या पता कफ़न में लिपटा मिले, कल ये यार तुम्हारा….!!
अल्फ़ाज़ के कुछ तो कंकर फ़ेंको,
यहाँ झील सी गहरी ख़ामोशी है.
बड़ी हिम्मत दी उसकी जुदाई ने
ना अब किसी को खोने का दुःख
ना किसी को पाने की चाहत.

Mood Off Shayari in Hindi

इतना कुछ हो रहा है..दुनिया में,
……क्या तुम मेरे नही हो सकते.
यहाँ लोग अपनी गलती नही मानते,
किसी और को अपना क्या मानेंगें।
न जाने हर बार ऐसा ही क्यों होता है,
जो सबको ख़ुशी देता है आखिर में वही रोता है.

Mood Off Shayari in Hindi

कभी सोचा करता था कैसे रह पाऊँगा तेरे बिना,
देख तूने ये भी सिखा दिया मुझे।
मैं फिर से निकलूंगा तलाश -ए-जिन्दगी में,
दुआ करना दोस्तो इस बार किसी से इश्क ना हो.
कभी टूटकर बिखरो तो मेरे पास आ जाना,
मुझे अपने जैसे लोग बहुत पसंद है।

Mood Off Shayari in Hindi

एक दिन वक्त भी साथ बैठकर रोया मेरे,
कहने लगा तू तो ठीक है बस मैं ही खराब हूं।
किसी दिन तुम्हारी याद ना आये तो,
मुझे मतलबी ना समझ लेना दोस्तों,
क्या करूँ इस छोटी से उम्र में परेशानी बहुत है.
एक दिन वह रो-रो कर कहने लगी,
मुझे तुमसे नफरत है,
लेकिन अगर उसको मुझसे नफरत थी,
तो वह रोई क्यों।

मूड ऑफ शायरी

हैरान हूँ मैं तुम्हारी हसरतो पर,
तुमने सब कुछ माँगा मुझसे बस मुझे छोड़ कर.
रोज एक नयी तकलीफ,
रोज एक नया गम,
न जाने कब एलान होगा की मर गए है हम.
अगर तुम अजनबी थे तो लगे क्यों नहीं,
और अगर मेरे थे तो मुझे मिले क्यों नहीं।

मूड ऑफ शायरी

हमने तो एक ही शख्स पर चाहत ख़त्म कर दी,
अब मोहब्ब्बत किसे कहते है मालूम नहीं।

तूझे मेरी मुस्कान अच्छी लगती थी
ले आज तूझे वो भी दे दी ?
बताओ तो कैसे निकलता है जनाज़ा उनका,
वो लोग जो अन्दर से मर जाते है !!

मूड ऑफ शायरी

वो क्या करेगा लेके जमाने की राहतें
जिसको तुम्हारी याद में रोना पसंद है.
जहर देता हैं कोई कोई दवा देता हैं.
जो भी मिलता हैं मेरा दर्द बढ़ा देता हैं.
ये वो दौर है जहाँ,
हर मुलाकात में मकसद छुपे होते हैं.

मूड ऑफ शायरी

वो रूह में उतर जाये तो पा ले मुझको…
इश्क़ के सौदे मैं जिस्म नहीं तौले जाते..!!
नहीं लगाऊँगा अब कोई पहरा दिल पर ,
है झूठी ये दुनिया और लोग है लुटेरे.

मेरी दिल की किताब को
अपनी नज़र से पढ़कर तो देखो,
कहीं आप की याद, तो कहीं आप मिलेंगे.


मूड ऑफ शायरी

प्यार की कदर तुझे तब होगी जब ,
तेरा इश्क तेरे सामने किसी और का हो जाएगा

अभी से क्यों छलक आये तुम्हारी आँख में आंसू.
अभी तो छेड़ी ही कहा हे दर्द-ए-दिल की दास्तान हमने

आँखें खुली थी इंतजार में किसी के ,
लोग दफना आये हमें कोई लाश समझकर


Mood Off Shayari in Hindi
उदास नज़रों में ख्वाब मिलेंगे,
कहीं काँटे तो कहीं गुलाब मिलेंगे

एक चाहत थी तेरे संग जीने की वरना…,
मौहब्बत तो किसी से भी ho सकती थी।।.

उनकी नज़रो में फर्क अब भी नही है,
पहले मुड़ के देखते थे और अब देख के मुड़ जाते है !!


Mood Off Shayari in Hindi
किस कदर मोहब्बत का जूनून इस दीवाने में हे,
कल ही जमानत हुई थी आज फिर थाने में है ||

उससे मिले हुए ज़माना हो गया,
फिर भी यही दुआ निकलती है कि वो खुश हो जहाँ कहीं भी हो

हर बार इल्जाम हम पर ही लगाना ठीक नहीं,
वफ़ा खुद से नहीं होती और खफा हम पर होते हो.


Mood Off Shayari in Hindi
अच्छी भली ज़िन्दगी गुजर रही थी….
फिर एक दिन वो किसी और की हो गई ??

दोस्ती तो बच्चे करते है साहब क्यूंकि,
बड़े तो समझोते और सौदेबज़ी करते है

मैं अकेले यूँ ही मजे में था
मुझे आप किसलिए मिल गए.


Best Mood Off Shayari in Hindi

मुकर जाने का कातिल ने निराला ढंग निकाला है,
हरेक से पूछता है की उसको किसने मार डाला है !!

तूझे मेरी मुस्कान अच्छी लगती थी
ले आज तूझे वो भी दे दी ?

बताओ तो कैसे निकलता है जनाज़ा उनका,
वो लोग जो अन्दर से मर जाते है !!


Best Mood Off Shayari in Hindi

वो क्या करेगा लेके जमाने की राहतें
जिसको तुम्हारी याद में रोना पसंद है.

न वो आ सके , न हम कभी जा सके ,
न दर्द दिल का किसीको सुना सके
बस खामोश बैठे है उसकी यादों में ,
न उसने याद किया न हम उसे भुला सके.
दिल का दर्द दिल तोड़ने वाला क्या जाने,
प्यार के रिवाजों को ये ज़माना क्या जाने,
होती है इतनी तकलीफ लड़की पटाने में,
ये घर बैठा उसका बाप क्या जाने।

Best Mood Off Shayari in Hindi

सच्ची मोहब्बत भी हम करते है,
वफ़ा भी हम करते है,भरोसा भी
हम करते है,और आखिर में तन्हा
जीने की सजा भी हमे ही मिलती है.
सुना है वो जाते हुए कह गये,के अब तो
हम सिर्फ़ तुम्हारे ख्वाबो मे आएँगे,कोई
कह दे उनसे के वो वादा कर ले, हम
जिंदगी भर के लिए सो जाएँगे..
अफसोस होता हैं उस पल का,
जब अपनी पसंद कोई और चुरा
लेता हैं, ख्वाब हम देखते रहते हैं,
और हकीकत कोई और बना लेता हैं.

Best Mood Off Shayari in Hindi

ज़ख्म भर जाएंगे, तुम मिलो तो सही
दिन सँवर जाएंगे, तुम मिलो तो सही
रास्ते में खड़े दो अधूरे सपन एक घर
जाएंगे, तुम मिलो तो सही.
वो हमेशा कहती थी की,
में तुम्हे अपना बनाके ही छोडूंगी,
आज उसने  वही किया,
मुझे अपना बनाके छोड़ दिया ।

अफसोस होता हैं उस पल का,
जब अपनी पसंद कोई और चुरा लेता हैं,
ख्वाब हम देखते रहते हैं,
और हकीकत कोई और बना लेता हैं।


Best Mood Off Shayari in Hindi

वो रूह में उतर जाए तो पा ले हमको
इश्क़ के सौदे में जिस्म नहीं तौले जाते।

वह मेरा सब कुछ है पर मुक़द्दर नहीं,
काश वो मेरा कुछ न होता पर मुक़द्दर होता।

कभी टूट कर बिखरो तो मेरे पास आ जाना,
मुझे अपने जैसा लोग बहुत पसंद है।

जो नसीब में नहीं होता वो रोने से भी नहीं मिलता,
कभी कभी दिल चाहता हैं, कि दिल अब कुछ भी ना चाहे।

जीने का मतलब पहली मुहब्बत में पा लिया,
जिसका भी गम था उसे अपना लिया
आप रो कर भी गम को हलका न कर सके,
मैंने हसी के आड़ में हर गम को छुपा लिया।

कुछ कदम हम चले, कुछ कदम तुम चले
फर्क सिर्फ इतना रहा,
हम चले तो फासला घटता गया,
और तुम चले तो फासला बढ़ता गया।


Mood Off Shayari in Hindi

सुना हैं काफी पढ़ लिख गए हो तुम,
कभी वो भी तो पढ़ो जो हम कह नहीं पाते।

जहर देता हैं कोई कोई दवा देता हैं.
जो भी मिलता हैं मेरा दर्द बढ़ा देता हैं।

वो क्या करेगा लेके जमाने की राहतें
जिसको तुम्हारी याद में रोना पसंद है।

मेरे अकेलेपन को मेरा शौक ना समझो यारो,
बड़े ही प्यार से तोहफ़ा दिया है किसी चाहने वाले ने।

जिंदगी ने सवाल बदल डाले,
वक्त ने हालात बदल डाले
हम तो आज भी वही है जो कल थे,
बस लोगों ने अपने जज्बात बदल डाले।

न वो आ सके, न हम कभी जा सके,
न दर्द दिल का किसीको सुना सके
बस खामोश बैठे है उसकी यादों में,
न उसने याद किया न हम उसे भुला सके।


Mood Off Shayari in Hindi

हालातों की मार ने इस कदर तोड़ दिया हैं हमें,
कि ख़ुशी मिलने की अब कोई आस ना रही मुझे |

ना दो हमें और तकलीफ हमारा पहले ही मन खराब है,
क्योंकि दुनिया में दर्द देने वाले लोग बेहिसाब है |

दुनिया की बेवफाई से बड़े परेशान हो गए है हम,
इसलिए अब तो बस इंतज़ार है हमें उस वक़्त के आने का,
जब आ जाएगा बुलावा हमारा इस दुनिया को छोड़ जाने का |


Mood Off Shayari in Hindi
अगर उनको हमें धोखा ही देना था तो हमारी जिंदगी में आए ही क्यों थे,
इससे अच्छा तो हम अकेले ही जी लेते |

क्या उम्मीद करूँ मैं उन लोगो से जिन्होंने
मेरी खिलखिलाती मुस्कान के फूल को,
अपने मतलब के नीचे कुचल दिया,
इसलिए अब उन लोगो को जिंदगी से बाहर फेंकना है |

मेरी फ़ितरत में नहीं कि अपना गम बयाँ करू,
अगर तेरे दिल का हिस्सा हूँ तो महसूस कर तकलीफ मेरी।


Mood Off Shayari in Hindi

हँसकर कबूल क्या कर लीं सजाएँ मैंने
ज़माने ने दस्तूर ही बना लिया
हर इलज़ाम मुझ पर लगाने का।

जिनकी याद में हम दीवाने हो गए,
वो हम ही से बेगाने हो गए

शायद उन्हें तलाश है अब नए दोस्त की,
क्यूंकि उनकी नजर में अब हम पुराने हो गए।

घाटे और मुनाफे का बाजार नहीं,
इश्क़ एक इबादत हैं कारोबार नहीं।

जो ढूंढ रहे थे हमें भुला देने का रास्ता,
हमने खफा होकर उनका काम आसान कर दिया।

उनकी मुस्कान हमारी कमजोरी है,
उनसे कुछ कह न पाना हमारी मजबूरी है,
वो क्यों नहीं समझते हमारी ख़ामोशी को,
क्या ख़ामोशी को जुबान देना जरूरी है।

खुशी मेरी कांच सी थी,
न जाने कितनो को चुभ गई।

इस दौर के लोगो मै वफ़ा ढूंढ रहे हो,
बड़े नादान हो सहाब, जेहेर की शीशी में दवा ढूंढ रहे हो।

अजीब है ये अकेलापन ना खुश हूं ना उदास हूं,
बस खाली और ख़ामोश हूं।

कुछ रिश्तों को कभी भी नाम ना देना तुम,
इन्हें चलने दो ऐसे ही इल्जाम ना देना तुम,
ऐसे ही रहने दो तुम तिश्नग़ी हर लफ़्ज़ में,
कि अल्फ़ाज़ों को मेरे अंज़ाम ना देना तुम।

इंसान कितना भी खुशकिस्मत क्यों न हो,
उसकी कुछ ख़्वाहिशे अधुरी रह ही जाती है।

कोई फ़र्क़ नहीं होता ज़हर” और “प्यार ” में,
ज़हर पी कर लोग मर जाते है,
और प्यार करके लोग जी नहीं पाते है।

जो भी हमसे नाराज़ हुए,
हमने उन्हें बहुत मनाया,
आज हम खफा हुए तो कोई नहीं आया।

खो जाओ मुझ में तो मालूम होगा कि दर्द क्या है,
ये वो किस्सा है जो ज़ुबान से बयाँ नहीं होता।

तन्हाईओं का सफर हर हद पार करता चला गया,
हम करते रहे गुनाह उन्हें पाने की ख्वाइशों का,
वो बन बेखबर किसी ओर की बाँहों में सिमटा चला गया।

साँसों का टूट जाना तो बहुत छोटी सी बात है दोस्तो,
जब अपने याद करना छोड़ दे, मौत तो उसे कहते है।

इश्क़ लिखना चाहा तो कलम भी टूट गयी,
ये कहकर अगर लिखने से इश्क़ मिलता तो,
आज इश्क़ से जुदा होकर कोई टुटता नहीं।

हमारी गलती ये नहीं कि हमें तुम्हारे साथ आना ही नही था,
बल्कि ये है कि हमने तुम्हे पहचाना ही नहीं था।

इतनी ठोकरें देने के लिए शुक्रिया ज़िन्दगी,
चलना तो नहीं मगर सम्भलने का हुनर तो आ गया।

आज रास्ते में कुछ प्यार भड़े पन्ने टुकडों में मिले,
शायद फिर किसी गरीब का प्यार का तमाशा हो गया।

प्यार उसको मिलता है जिसकी तकदीर होती है,
बहुत कम हाँथो मे ये लकीर होती है
कभी जुदा ना हो प्यार किसी का,
कसम खुदा की बहुत तकलीफ होती है।

वाकई पत्थर दिल ही होते हैं शायर
वर्ना अपनी आह पर वाह सुनना कोई मज़ाक नहीं।

मोहब्बत नहीं थी तो एक बार समझाया होता,
बेचारा दिल तुम्हारी खामोशी को इश्क़ समझ बैठा।

बुरा कैसे बन गया साहब
दर्द लिखता हुँ किसी को देता तो नही।

कई बार सोचता हू कि तुझसे सवाल करू,
फिर ख्याल आता है किस हक से।

ये तो जमीन कि फ़ितरत हैं हर चीज़ को मिटा देती हैं,
तेरी याद में गिरने वाले आँसुओ का,
अलग समंदर होता हैं।

दिल से रोये मगर होंठो से मुस्कुरा बेठे,
यूँ ही हम किसी से वफ़ा निभा बेठे
वो हमे एक लम्हा न दे पाए अपने प्यार का,
और हम उनके लिये जिंदगी लुटा बैठे।

जाने क्यों अकेले रहने को मज़बूर हो गए,
यादों के साये भी हमसे दूर हो गए
हो गए तन्हा इस महफ़िल में,
कि हमारे अपने भी हमसे दूर हो गए।

तेरा हाथ पकर कर तुझे रोक लेते अगर,
तुझ पर थोड़ा सा जोर होता मेरा,
ना रोते यू तेरे लिए अगर,
हमारी जिंदगी में कोई और होता।

किसी दिन तुम्हारी याद ना आये तो,
मुझे मतलबी ना समझ लेना दोस्तों,
क्या करूँ इस छोटी से उम्र में परेशानी बहुत है।

एक दिन वह रो-रो कर कहने लगी,
मुझे तुमसे नफरत है,
लेकिन अगर उसको मुझसे नफरत थी,
तो वह रोई क्यों।

किसी ने यूँ ही पुछ लिया हमसे कि दर्द कि किमत क्या है,
हमने हंसते हुए कहाँ पता नहीं यहाँ तो अपने,
मुफ्त मे दे जाते हैं।

बाज़ार बड़ा मंदा है साहेब
ख़ुशी की किल्लत है और
ग़म कोई ख़रीद नहीं रहा।

ये तुम से कह दिया किस ने,
के बाज़ी हार बैठे हम
अभी तुम पे लुटाने को,
हमारी जान बाक़ी है।

आत्महत्या कर ली गिरगिट ने,
और सुसाइड नोट में लिख डाला
‘इंसान से जयादा में रंग नहीं बदल सकता’

क्या कमी थी मुझ में
जो तुमने मुझे छोड़ दिया
वफ़ा करनी नहीँ आई
या मैँ गरीब था।

आरजू क्यों करूं
कि तुम मुझे चाहोगे उम्र भर
इतना ऐतबार ही काफी है
कि मुझे भूल नहीं पाओगे उम्र भर।

फर्क इतना है मेरे आज और कल में,
जिन लम्हो को याद करके हम खुश होते थे,
आज उन्ही लम्हो को याद करके हम रोते है।

वो रो रो कर कहती रही मुझे नफरत है तुमसे,
मगर एक सवाल आज भी परेशान किये हुए है?
की अगर नफरत ही थी तो वो इतना रोई क्यों।

टूटा हो दिल तो दुःख होता है,
करके मोहब्बत किसी से ये दिल रोता है।
दर्द का एहसास तो तब होता है,
जब किसी से मोहब्बत हो और उसके दिल में कोई और होता है।

हमेशा गलती धुंडते रहते हो।
प्यार से भी कभी
बात तो कर लिया करो।

एक बात कहना था,
क्या सच में तूमे कभी
प्यार न्ही किया मुझसे।

हमारा दर्द से कुछ ऐसा नाता है।
अपने मुझे छोड़के
हमेशा चला जाता है।

मुझे बर्बाद करकर खुश होना,
पर देख लेना तुम भी
कभी आबाद नहीं रहोगे।

सीसा और मेरा कुछ गहरा नाता है,
दोनों को हमेशा
कोई ना कोई तोड़ देता है।


हम आशा करते है की आपको हमारे द्वारा बताए गयी Mood Off Shayari in Hindi बहुत पसंद आयी होंगी।  दोस्तों आपको इन शायरिओ में सबसे ज्यादा अच्छी कोनसी Shayari  लगी हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताये। और पोस्ट को  ज्यादा  से ज्यादा लोगो तक शेयर करे।

Read More ⇓